MP School News : मध्यप्रदेश में अब सिर्फ एक सफ्ताह में 3 दिन खुलेंगे स्कूल

MP School News : कोरोनावायरस के ओमीक्रॉन के खतरे को देखते हुए शिवराज सिंह चौहान जी ने हाल ही में एक बड़ी बैठक की थी और उस बैठक में शिवराज सिंह चौहान जी ने स्कूल की कक्षाओं के बारे में चर्चा की और एक बड़ा निर्णय लिया है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी ने यह निर्णय लिया है कि मध्य प्रदेश के स्कूल अब 50% क्षमता के साथ खोले जाएंगे। आप सभी जानते होंगे कि मध्य प्रदेश के स्कूल 100% क्षमता के साथ खुला शुरू ही हुए थे और इतने में कोरोनावायरस के ओमीक्रॉन वेरिएंट के खतरे को ध्यान में रखते हुए शिवराज सिंह चौहान जी ने एक बड़ा निर्णय लिया है।

Join Telegram

मध्य प्रदेश शिवराज सिंह चौहान जी ने कुछ दिन पहले बैठक की और उस बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि 18 साल से कम उम्र के विद्यार्थी 1 सप्ताह में सिर्फ 3 दिन स्कूल आएंगे। इसके साथ-साथ शिवराज सिंह चौहान जी ने यह निर्णय लिया है कि ऑनलाइन क्लासेस जारी रहेंगी और विद्यालय में विद्यार्थियों को 3 दिन ही स्कूल आना होगा। शिवराज सिंह चौहान जी ने यह भी कहा है कि विद्यार्थी अपने अभिभावक की सहमति से स्कूल आएंगे यदि अभिभावकों की सहमति नहीं होती है तो विद्यार्थियों को स्कूल आना अनिवार्य नहीं है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने साफ कह दिया है कि सोमवार से ही स्कूलों में बच्चों की संख्या 50 फ़ीसदी की जाती है। रोस्टर के अनुसार सप्ताह में तीन तीन दिन 50 50 फ़ीसदी बच्चों को बुलाया जाए। ऑनलाइन कक्षाएं तत्काल शुरू की जाए।

स्कूलों में विद्यार्थियों की 50% उपस्थिति और ऑनलाइन क्लास शुरू करने के प्रदेश सरकार के आदेश का पालन मंगलवार से ही हो पाएगा। दरअसल रविवार का अवकाश होने से आदेश भेजा नहीं जा सका। इसलिए शहर के अधिकांश सीबीएसई स्कूल मंगलवार से ही इसका पालन करेंगे। वही सरकारी स्कूलों में सोमवार से 6 मई परीक्षाएं होंगी।

करुणा के नए वेरिएंट अमीक्लोन को लेकर मध्य प्रदेश सरकार अलर्ट मोड पर है। सीएम शिवराज सिंह ने रविवार को आपात बैठक बुलाकर स्कूलों को फिर से 50 फ़ीसदी क्षमता के साथ ही खोलने के निर्देश दिए हैं। वही एक माह में विदेशियों से मध्यप्रदेश आने वाले सभी यात्रियों की कांटेक्ट ट्रेसिंग करने के निर्देश भी दिए हैं।

कोरोनावायरस के ओमीक्रॉन के खतरे के मद्देनजर भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए सोमवार को नई गाइडलाइन जारी की। ओमीक्रॉन के खतरे की श्रेणी से जिन देशों को बाहर रखा गया है वहां से आने वाले यात्रियों में 50% की टेस्टिंग जरूर की जाएगी। राज्यों से भी विदेश से आने वाले यात्रियों की निगरानी व टेस्टिंग बढ़ाने के साथ ही कोरोनावायरस पोर्ट की निगरानी करने को कहा है। इधर नया वेरिएंट अमीक्लोन ब्रिटेन ऑस्ट्रेलिया जर्मनी समेत 13 देशों में पहुंच चुका है।

डब्ल्यूएचओ ने चेतावनी दी है कि अगर नए वेरिएंट के चलते कोरोना संक्रमण तेज हुआ तो इसके नतीजे बेहद खतरनाक होंगे।

केंद्र ने जारी की नई ट्रैवल एडवाइजरी।

  • खतरे की श्रेणी में रखे गए देशों से आने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट पर कोविड-19 कराना होगा।
  • बाहर जाने वाले यात्रियों को 72 घंटे पहले किए टेस्ट की आरटी पीसीआर रिपोर्ट देना जरूरी।
  • पॉजिटिव यात्रियों को भी आइसोलेट किया जाएगा सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग होगी।
  • नेगेटिव यात्री घर जा सकेंगे पर 7 दिन तक आइसोलेट रहना होगा आठवें दिन फिर टेस्ट होगा और अगले 7 दिन उन्हें self-monitoring करनी होगी।
  • ओमीक्रोन के खतरे की श्रेणी से बाहर वाले देशों से आने वाले यात्रियों में 5 फ़ीसदी की टेस्टिंग जरूरी की जाएगी।

Leave a Comment